हफ्ते में 1 बार खाएं उड़द की दाल मांस-मछली से भी ज्यादा मिलेगी ताकत

Urad-dal

दोस्तों आपने उड़द की दाल तो खूब खाई होगी, चावल के साथ तड़के वाले उड़द के दाल इतने टेस्टी लगते हैं कि खाने में नखरे करने वाले बच्चे भी इसे बड़े चाव के साथ खाते हैं। लेकिन अगर आपको उड़द की दाल पसंद नहीं है तो आपके लिए ये जानना बहुत ज़रूरी है कि उड़द की दाल सेहत के लिए खज़ाने जैसा है, सिर्फ एक दाल तमाम रोगों की दवा है।  उड़द की दाल में फाइबर पाया जाता है जिससे पाचन में सुधार होता है। इसके अलावा ये आपको कब्ज, दस्त, गठिया, अस्थमा, बदन दर्द औऱ डायबिटीज जैसे रोगों से भी दूर रखता है।

1.डायबिटीज की परेशानी होगी दूर

उड़द की दाल मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है, क्योंकि ये खून में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित रखता है। जिससे डायबिटीज की समस्या दूर हो जाती है। तो अगर आप भी डायबिटीज के रोगी हैं तो अपने खाने में उड़द की दाल ज़रूर शामिल करें, क्योंकि ये उच्च फाइबर वाला खाद्य पदार्थ है जो डायबिटीज के लिए बहुत फायदेमंद है। ये डायबिटीज को जड़ से खत्म करता है, इसके साथ ही ये स्पाइक्स से भी रोकता है।

2.दिल की दवा है उड़द की दाल

उड़द की दाल दिल के सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि इसमें फाइबर, मैग्नीशियम और पोटेशियम की मात्रा अधिक पाई जाती है जो दिल को स्वस्थ और जवां रखने में काफी फायदेमंद माना गया है। इसके अलावा उड़द की दाल कोलेस्ट्रॉल को संतुलित रखने में भी काफी फायदेमंद है। जो लोग उड़द की दाल का सेवन करते हैं उन्हे नसों से जुड़ी बीमारियां भी नहीं होती हैं क्योंकि ये नसों की तनाव को कम करने में मदद करता है, जिससे हाई ब्ल्ड प्रेशर की शिकायत भी दूर होती है।

3.दर्द की परेशानी को रखे दूर

जिन लोगों को हमेशा शरीर में औऱ जोड़ों में दर्द की शिकायत रहती है उन्हे उड़द की दाल का सेवन ज़रूर करना चाहिए, ज्यादातर लोग उड़द की दाल का सेवन दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए ही करते हैं। इससे अर्थराइटिस और गठिया का दर्द खत्म होता है। खास बात तो ये है कि, आयुर्वेदिक उपचार के लिए भी उड़द की दाल का इस्तेमाल किया जाता है।

इसमें बड़ी मात्रा में विटामिन और खनिज पाए जाते हैं, इसमें पाया जाने वाला ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करता है। अगर आपके जोड़ों में दर्द है या आप गठिया के दर्द के कारण उठ बैठ नहीं पा रहे हैं तो ऐसे में उड़द दाल का पेस्ट बनाकर घुटनों पर मालिश करें, दिन में दो बार ये उपाय करने से गठिया के दर्द में आराम मिलता है।

4.त्वचा को रखे हाइड्रेट

उड़द की दाल का इस्तेमाल हरेक तरह के आयुर्वेदिक उपचार में किया जाता है। ये केवल बीमारियों का ही इलाज नहीं करता है बल्कि ये एकमात्र ऐसी दाल है जो हमारी त्वचा को भी हाइड्रेट रखता है। इस दाल का सेवन करने से स्किन से जुड़ी कोई भी बीमारी नहीं होती है। उड़द की दाल में भरपूर मात्रा में खनिज और विटामिन पाया जाता है, जो त्वचा पर किसी भी सूजन को कम करने के लिए बहुत अच्छा है।

इसके अलावा ये निशान और धब्बों से भी छुटकारा पाने में भी मदद कर सकता है। ये शरीर में खून की मात्रा को बढाता है जिससे चेहरा चमकदार दिखाई देता है। इसके अलावा अगर आप धूप में ज्यादा रहते हैं और टैन हो जाती है तो इस स्थिति में आप उड़द दाल का पेस्ट यूज कर सकते हैं ये सनबर्न को ठीक करते हैं और मुहांसों को भी कम करते हैं। इसके लिए आप उड़द दाल के पेस्ट बनाकर टैन वाली जगह पर स्क्रब करें, ये उपाय आपको हफ्ते में 2 बार करना है।

आगे पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here