मात्र 15 दिनों तक करें नीम की पत्तियों का सेवन, यूरिन, डायबिटिज़,औऱ किडनी, से जुड़ी बीमारियां होंगी गायब

neem
neem

आज हम आपको नीम के पत्ते यानी नीम लीव्स के ऐसे फायदे बताएंगे जिसे शायद ही आप जानते होंगे। नीम के पत्ते जितने कड़वे लगते हैं उतने ही ज्यादा फायदेमंद भी है। नीम आपके दिमाग को तो शांत करता ही है साथ ही इसमें पाए जाने वाले औषधिय गुण में कई सारे सेहत के राज़ भी छुपे हैं।  

1.यूरिन संक्रमण से छुटकारा

आजकल के इस अस्त-व्यस्त जीवनशैली में यूरिन संक्रमण का होना आम बात है। अक्सर गलत खानपान के कारण यूरिन संक्रमण हो जाता है। ऐसे में तमाम दावाइयां (neem capsules benefits) लेने के बाद भी ये परेशानी ठीक नहीं हो रही है तो ऐसे में रोज़ाना सुबह उठकर नीम के पत्ते चबाएं, नियमित रूप से ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपकी यूरिन संबंधित दिक्कतें खत्म हो जाएंगी।

2. डायबिटिज़ को कंट्रोल करें

एक शोध के अनुसार पाया गया है कि नीम के पत्ते मधुमेह के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं और जिन लोगों को भी अधिक मधुमेह की शिकायत है, अगर वो इसके पत्तों (neem tea benefits) को नियमित रूप से खाएं तो आसानी से इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।  

3.किडनी औऱ लीवर की गंदगी होगी साफ

neem

पूरे शरीर की अशुद्धियों को खत्म करने के लिए नीम के पत्तों को पीसकर उसका पाउडर बना लें, इस पाउडर में एक चुटकी हल्दी मिलाएं और इसे हल्के गुनगुने पानी में मिलाएं। ध्यान रहे अगर आप ये पानी तांबे के बरतन में रखते हैं तो इसका ज्यादा लाभ मिलेगा। रोज़ाना सुबह इस पानी को पीने से पहले इसमें हल्का शहद मिलकार पीएं। ये पानी पूरे शरीर की गंदगी को साफ करता है, साथ ही किडनी (neem leaves on kidney), लीवर आदी में पनप रहे संक्रमण भी मर जाते हैं।

4.पेट की शिकायत होगी दूर

पेट की समस्या से निजात पाने के लिए 40 से 50 ग्राम नीम की छाल को जौ के साथ कूटकर 400 मिली जल में पकाएं और इसमें 10 ग्राम नमक भी डाल दें। जब ये पक कर आधा रह जाए तो इसे हल्का गुनगुना करके पीएं। इस उपाय से तुरंत पेट दर्द में आराम मिलता है।

5.अल्सर में फायदेमंद हैं नीम के पत्ते

नीम की छाल का 30 से 60 मिलीग्राम अर्क दिन में दो बार लें, इससे 10 सप्ताह के भीतर पेट और आंतों के अल्सर ठीक हो जाते हैं। लेकिन ध्यान रहे यदि आप अल्सर की कोई और दवाई ले रहे हैं तो नीम का इस्तेमाल करने से पहले अपने भरोसेमंद आयुर्वेदिक चिकित्‍सक की सलाह ज़रूर लें।

6.सफेद बाल होंगे काले

नीम

नीम के पत्ते सफेद हुए बालों (benefits of neem leaves for hair) को भी नेचुरली तरीके से ठीक करते हैं। इसके लिए नीम के बीजों को भांगरा के रस, असन पेड़ की छाल के काढ़े में भिगो कर छाया में सुखाएं। जब ये पूरी तरह से सूख जाए तो इसका तेल निकालकर नियमानुसार 2-2 बूँद नाक में डालें। इससे जवानी में सफेद हुए बाल खुद काले होने लगेंगे।

7.बढ़ेगी रोग प्रतिरोधक क्षमता

सर्दियों में अक्सर थोड़ी सी भी सर्द हवा लगने पर व्यक्ति को सर्दी- खांसी और जुकाम की शिकायत हो जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमारे शरीर में थोड़ी सी भी ठंड बर्दाश्त करने की शक्ति नहीं होती है। ऐसे में शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए इसके पत्ते या फिर इसका कैपसूल खाने खाएं

8.दांत की मैल हटाएगा नीम का पत्ता

एक शोध के अनुसार अगर आप करीब 6 सप्ताह तक नीम के पत्तों का अर्क दांतों और मसूड़ों पर लगाते हैं तो इससे मुंह के बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं, ये वही बैक्टीरिया होते हैं जो दांतों की मैल यानी डेंटल प्‍लाक का कारण बनता है।

अगर आपको नीम का अर्क नहीं मिलता है तो इसके लिए भी एक उपाय है…जब अर्क ना मिले तो इसके पत्‍तों को ही अच्‍छी तरह से धोकर रोज़ाना सुबह- सुबह चबा सकते हैं। इससे मसूड़ों के सूजन भी ठीक होते हैं।  

9.पेट की दिक्कतों के लिए गुणकारी है नीम

नीम

पेट से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए रोज़ाना सुबह खाली पेट 2 पत्ते का सेवन करें। ध्यान रहे आपको रोज़ाना दो ही पत्ता खाना है। क्योंकि इसके ज्यादा इस्तेमाल से कुछ नुकसान (neem leaves side effects) भी हो सकते हैं। लेकिन अगर आप इसे ज़रूरत भर ही लेते हैं तो इसके तमाम फायदे हैं, रोज़ाना 2 पत्ते खाने से पेट से जुड़ी सारी छोटी बड़ी दिक्कतें दूर होती हैं, इससे पेट तो साफ होता ही है साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।

10.रोज़ाना करें नीम का दातुन

आपने देखा होगा आज भी गांव में लोग ब्रश करने के लिए नीम की टहनियों का ही उपयोग करते हैं। आयुर्वेद में भी कहा गया है कि रोज़ाना सुबह नीम का दातुन करने से मुंह के सभी रोग खत्म होते हैं औऱ साथ ही ये खून साफ करने में भी मदद करता है।

आगे पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here