देश के इन 5 राज्यों में न्यू ईयर और क्रिसमस सेलिब्रेशन पर रहेगा प्रतिबंध

कर्फ्यू

दक्षिण अफ्रीका और यूके में कोरोना वायरस (Corona virus) के नए स्ट्रेन मिलने के बाद अब नए साल के सेलिब्रेशन पर कर्फ्यू देखने को मिल सकता है। अब तक भारत में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन वैज्ञानिको के अनुसार देखने को नहीं मिला है। लेकिन कोरोना महामारी के चलते कुछ लोग सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन्स का पालन नहीं कर रहे हैं। जिसके चलते कुछ राज्य सरकारें साल के अंत में भीड़ जुटाने पर रोक लगा सकती है।

कुछ राज्यों ने कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखते हुए सावधानी बरतने की योजना बनाई है, जिनमें महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु,  उत्तराखंड, राजस्थान शामिल है।

1. महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में नाईट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। रात को 11 बजे से सुबह छह बजे तक महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू लगेगा। ये कर्फ्यू 15 दिन के लिए लगाया गया है जिसके अंतर्गत कोई भी व्यक्ति रात में 11 बजे के बाद बाहर नहीं जा सकता। 22 दिसंबर से लेकर पांच जनवरी तक इन नियमों का पालन करना पड़ेगा। क्रिसमस के दिन मुंबई में चर्च पर ज्यादा भीड़ नहीं लगाई जा सकती और चर्च में आने वाले लोगों पर निगरानी रखी जाएगी। भीड़ में 200 से ज्यादा लोगों के शामिल होने पर प्रतिबंध रहेगा।

2.कर्नाटक

कर्नाटक में कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन को लेकर सरकार काफी चिंतित है। सरकार ने ऐलान किया है कि रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा, हालांकि ये कर्फ्यू 22 दिसंबर से एक जनवरी तक लगाया गया है।

3. तमिलनाडु

तमिलनाडु में 31 दिसंबर और एक जनवरी यानी की दो दिन तक सभी बीच, क्लब आदि में पार्टी पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हालांकि तमिलनाडु में किसी तरह का कोई कर्फ्यू नहीं है। एक जनवरी के बाद कोविड-19 गाइडलाइंस के मुताबिक क्लब आदि में काम किया जा सकता है।

4.उत्तराखंड

उत्तराखंड में किसी भी तरह की सामूहिक पार्टी ना करने का निर्देश जारी किए गए हैं। क्रिसमम और नए साल पर भी ये प्रतिबंध जारी रहेंगे। अगर किसी ने भी इन प्रतिबंधों का उल्लंघन किया या इन नियमों को तोड़ा तो उस पर आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत सजा दी जाएगी। ये प्रतिबंध देहरादून, ऋषिकेश और मसूरी में लागू रहेगा।

5.राजस्थान

31 दिसंबर से राजस्थान के उन इलाको में कर्फ्यू रहेगा जहां एक लाख से ज्यादा की आबादी है। 31 दिसंबर को रात आठ बजे से एक जनवरी को सुबह छह बजे तक इन गाइडलाइन्स का पालन करना पड़ेगा। राजस्थान में किसी भी तरह के पटाखे फोड़ने पर भी रोक लगा दी गई है।

आगे पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here