विश्व हिन्दू परिषद के संतों का राम मंदिर पर बड़ा बयान

विश्व हिंदू परिषद के संतों के उच्चअधिकारी परिषद की बैठक में देशभर के 48 प्रमुख संत शामिल है। इस बैठक के दौरान राम मंदिर आंदोलन को तेज करने का प्रस्ताव जारी है। सभी संतों ने कहा कि 6 दिसंबर तक कानून नहीं बना तो राम मंदिर निर्माण के लिए कारसेवा होगी। संतों ने मंदिर के निर्माण नहीं होने देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया। कानून बनाकर राम मंदिर का निर्माण हो इसके लिए विश्व हिंदू परिषद के संत राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपेंगे। ताकि राम मंदिर का निर्माण का रास्ता साफ हो। इसके अलावा इस बैठक में संतों ने गौ रक्षा पर कानून बनाने तथा धारा 370 को हटाने की भी बात कही।
इस विषय को लेकर 3 और 4 नवंबर की देश भर के 3000 से अधिक संत का तालकटोरा में इकट्ठे होने जा रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here