आरोग्य करेंगे महादेव, सावन में कीजिये ये 9 उपाय

सावन में महादेव करेंगे आरोग्य

वैसे तो महादेव अपने भक्तों की थोड़ी सी पूजा और प्रार्थना से ही प्रसन्न हो जाते हैं, लेकिन सावन में भोलेनाथ की विशेष पूजा अर्चना कर, उनसे मनवांछित फल की प्राप्ति की जा सकती है । अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग हमेशा ही बीमार रहते हैं। अगर उनकी एक बीमारी ठीक होती है, तो कोई दूसरी बीमारी उन्हें लग जाती है। भले ही वे लोग कितने भी प्रयत्न कर लें। उनके रोग खत्म होने का नाम ही नहीं लेते। वे हमेशा किसी ना किसी शारीरिक पीड़ा या रोग से परेशान रहते हैं। यदि ऐसे लोग सावन में भोलेनाथ की पूजा करें, तो वह आरोग्य होने का वरदान प्राप्त कर सकते हैं।

महाकाल करेंगे आरोग्य

जैसा कि सभी जानते हैं भोलेनाथ को महाकाल भी कहा जाता है, क्योंकि वह कालों के काल हैं। जिनकी कृपा से किसी की मृत्यु तक टल जाती है। शारीरिक रोगों को ठीक करना उनके लिए कौन सी बड़ी बात है। आज हम आपको कुछ ऐसे उपायों के बारे में बताएंगे। जिनको अपनाकर आप भोलेनाथ को प्रसन्न कर कई तरह के शारीरिक रोगों से जल्दी छुटकारा पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, इन उपायों के बारे में जिनसे भोलेनाथ प्रसन्न होकर हमें आरोग्य होने का वरदान देंगे।

नेत्र रोग

यदि किसी व्यक्ति को नेत्र रोग, अस्थि रोग या फिर हमेशा सिर दर्द की परेशानी होती है, तो ऐसे व्यक्ति को सावन के महीने में शिवलिंग में जल अर्पित करने के बाद आक के फूल पत्ते और बेलपत्र चढ़ाने चाहिए।

रक्त सम्बन्धी

यदि किसी को खून से संबंधित कोई बीमारी है, तो सावन के सोमवार के दिन गिलोय की जड़ी-बूटी से बने रस से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए । ऐसा करने से उसे जल्द ही इस रोग से छुटकारा मिल जाएगा

खाँसी-जुकाम और बीपी

जो व्यक्ति हमेशा नजला, खांसी- जुखाम, मानसिक तनाव या बीपी की समस्या से परेशान रहते हैं, उन्हें सावन के महीने में शिवलिंग का दूध में काले तिल अभिषेक करना चाहिए।

शारीरिक कमजोरी

जिन व्यक्तियों को हमेशा शारीरिक कमजोरी के कारण थकान या शरीर में खून की कमी होती है, उन्हें सावन के महीने में पंचामृत, घी और शहद से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए।

जोड़ों का दर्द

सावन के महीने में गन्ने के रस और छाछ से शिवलिंग का अभिषेक करने से मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द से होने वाली परेशानी से छुटकारा मिलता है।

लीवर और आंत

जिन लोगों को लीवर, चर्बी या आंतों से जुड़ा कोई रोग होता है, तो ऐसे लोगों को शिवलिंग पर दूध में हल्दी मिलाकर चढ़ाना चाहिए।

मस्तिष्क सम्बन्धी

सभी बच्चों का दिमाग एक जैसा नहीं होता। कुछ बच्चे दिमागी तौर से कमजोर होते हैं। जिनके लिए शिवपुराण में एक खास उपाय बताया गया है। जिसके अनुसार सावन के महीने में दूध में शक्कर मिलाकर, उस बच्चे के हाथों से शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए । ऐसा करने से बच्चे का दिमाग धीरे-धीरे तेज होने लगेगा।

तनाव और मानसिक परेशानी

सावन के सोमवार भोलेनाथ को उनकी प्रिय वस्तुएं, जैसे बेलपत्र, भांग, धतूरा और धतूरे का फूल- फल और शमी के फूल आदि अर्पित करने चाहिए। इसके साथ ही मृत संजीवनी का सवा लाख बार जप करना चाहिए ऐसा करने से तनाव और मानसिक परेशानियों से जल्दी छुटकारा मिलता है।

बार-बार बीमार पड़ना

कुछ लोग बार-बार बीमार पड़ते रहते हैं। उनकी बीमारी खत्म होने का नाम ही नहीं लेती । कई बार तो ऐसा होता है, कि उनके रोगों का भी पता नहीं लग पाता। यदि ऐसे लोग सोमवार के दिन शिव जी पर भांग और धतूरे अर्पित करें और शिवलिंग पर जल जल भी चढ़ाएं ।इसके अलावा हर सोमवार 108 बार महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here