धन प्राप्ति मंत्र जिसके जाप से भगवान गणेश करेंगे हर बाधा दूर

धन प्राप्ति मंत्र

सभी देवी देवताओं में सबसे पहले भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है। उन्हें सभी देवी-देवताओं से ज्यादा पूजनीय माना जाता है। गणेश जी सभी कष्टों को दूर करने वाले विघ्नहर्ता है। किसी भी शुभ कार्य में सबसे पहले गजानंद जी की पूजा की जाती है। जिससे वह कार्य शुभ और फलदाई हो। भगवान गणेश को रिद्धि-सिद्धि का ज्ञाता और देवता माना जाता है। इनकी पूजा अर्चना करने से मनुष्य को बुद्धि, ज्ञान और धन की प्राप्ति होती है। इसके अलावा विघ्नहर्ता की पूजा करने से घर परिवार में आ रही किसी भी तरह की समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। कहते हैं कि बप्पा से आप धन-धान्य की मांग करते हैं, तो वह आपको धन के साथ जीवन में बरकत का आशीर्वाद भी देते हैं। आज हम आपको ऐसे ही धन प्राप्ति मंत्र के बारे में बताएँगे जो आपकी सभी समस्याओं का संधान करेंगे।

यदि आपके जीवन में धन संबंधी कोई समस्या है या आपको व्यवसाय में रात चौगुनी और दिन दुगनी तरक्की करनी हो, तो आप गणेश जी के चमत्कारी धन प्राप्ति मंत्र का जाप कर सकते हैं। इन चमत्कारी मंत्रों का जाप करने से आपके जीवन में कभी भी धन का अभाव नहीं होगा। इसके अलावा आप किसी भी मांगलिक कार्य में यदि कोई अड़चन आ रही है तो भी आप गणेश जी की विशेष पूजा अर्चना कर इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। भगवान गणेश के ये धन प्राप्ति मंत्र आपकी हर प्रकार की अड़चन को दूर करेंगे।

धन प्राप्ति मंत्र

किसी भी चतुर्थी के दिन गणेश जी की हरे रंग की पूर्ति मूर्ति को घर में स्थापित करें। ध्यान रहे मूर्ति का मुंह उत्तर दिशा की ओर हो। रोज इस मूर्ति की पूजा अर्चना करें। फिर 11 हरी पत्ती दूब की गणेश जी को अर्पित करें। इसके बाद “ओम नमो भगवते गजाननाय” मंत्र का 108 बार जाप करें। यह जाप आप लाल रंग के आसन पर बैठकर ही करें। ऐसा लगातार 11 दिनों तक करने पर आपकी धन प्राप्ति की इच्छा गणपति जी अवश्य पूर्ण करेंगे।

बेफिजूलखर्ची से बचने का मंत्र

बुधवार के दिन गणेश जी की पीले रंग की मूर्ति को पूर्व दिशा की ओर घर में स्थापित करें। फिर रोली-मौली, चावल गणेश जी को अर्पित करें। उसके साथ ही धूप और दीप चलाकर गणेश जी की आरती उतारें। इसके बाद “ॐ हेरम्बाय नम:” मंत्र का जाप 108 बार करें। ध्यान रहे यह जाप आपको लाल चंदन की माला के साथ ही करना है। ऐसा लगातार 27 दिनों तक करने पर आपके खर्चों में कमी आने लगी।

मांगलिक कार्यों में आ रही अड़चनों से बचने का मंत्र

बुधवार के दिन गणेश जी की प्रतिमा या फोटो पर 21 हरि दूर्वा चढ़ाएं। गणेश जी की पूजा अर्चना करें और “ॐ विघ्ननाशनाय नमः” मंत्र का 108 बार जाप करें। आपको प्रत्येक बुधवार गणेश जी की यह विशेष पूजा करनी है। ऐसा करने से आपके किसी भी मांगलिक कार्य पर कभी भी कोई बाधा नहीं आएगी।

व्यवसाय में धन की हानि से बचने का उपाय

ऑफिस या अपने व्यवसाय के स्थान पर शुक्रवार के दिन गणेश जी के साथ माता लक्ष्मी की मूर्ति या फोटो स्थापित करें। इसके बाद उस पर गंगाजल का छिड़काव करें और फिर गुलाब का इत्र गणेश जी और माता लक्ष्मी को अर्पित करें। उसके बाद “ॐ गं गणपतये नमः” मंत्र का 108 बार जाप करें ध्यान रहे। हर शुक्रवार आपको यह उपाय करना है। ऐसा करने से आपके व्यापार या व्यवसाय में हो रही हानि से आपको तुरंत ही छुटकारा मिल जाएगा।

रोग से बचने का मंत्र

चतुर्थी के दिन घर में लाल रंग के बप्पा की मूर्ति की स्थापना करें। रोज उस पर 11 लाल पुष्प अर्पित करें। उसके बाद “वक्रतुण्डाय हुँ” मंत्र का रुद्राक्ष की माला के साथ 108 बार जाप करें। इस मंत्र का जाप आपको रोजाना करना है। जिससे बप्पा आपके या आपके परिवार में किसी भी तरह के रोग को घर ना करने दें और आप सदैव निरोगी बनी रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here