कुमार विश्वास ने किसे कहा “उल्लू” ?

शायर राजेश रेड्डी का एक शेर है कि “सर कलम होंगे कल यहाँ उनके, जिनके मुँह में ज़ुबान बाकी है”, यानि समर्थ व्यक्ति को भी उचित समय पर न बोलने का खामियाज़ा कभी न कभी भुगतना ही पडता है लेकिन आम आदमी पार्टी के नेता व कवि डॉ कुमार विश्वास इसके बिल्कुल उलट हैं, वे ऐसे हर वाकये पर बोलते हैं जिस पर बोलना चाहिये या बोलना उचित होता है, फिर चाहे सामने अपनी पार्टी हो या अन्य कोई राजनैतिक दल।

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से आम आदमी पार्टी कांग्रेस से गठ्बन्धन कि कोशिश में लगी थी जबकि इसी कांग्रेस पार्टी के खिलाफ ही अन्ना आन्दोलन से इस पार्टी का जन्म हुआ था .लेकिन कल आम आदमी पार्टी को गहरा झटका लगा जब कांग्रेस ने गठ्बन्धन करने से इनकार कर दिया .

इसी घटना में डॉ .कुमार विश्वास ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से अरविंद केजरीवाल को उल्लू कह दिया और इस ट्वीट का कारण थी आम आदमी पार्टी द्वारा की गई एक प्रेस काँफ्रेंस जिसमें पार्टी के प्रवक्ता गोपाल राय ने कहा कि “वरिष्ठ राजनीतिज्ञों के सुझावों को ध्यान में रखते हुए हम काँग्रेस नाम का ज़हर पीने को तैयार थे लेकिन देश की सबसे पुरानी पार्टी के लिये देश से आगे उसका अहंकार है” । गोपाल राय के इसी बयान पर तंज़ करते हुए डॉ कुमार विश्वास ने शायर हुल्लड मुरादाबादी का एक कत्आ अपने ट्वीट में साझा करते हुए कहा कि

https://twitter.com/DrKumarVishwas/status/1086280822770954247

—- उमेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here