सालों से बीमार पड़ा व्यक्ति भी उठकर भागने लगेगा, बस रोज़ाना सुबह बासी मुंह खाएं ये 5 चीज़ें

अगर आप कमजोरी, कब्ज़, थकान, हाथ पौरों और घुटनों में दर्द, नसों में ब्लॉकेज, बीपी, बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल, बालों का झड़ना, चेहरे पर झुर्रियां, तनाव और डिप्रेशन की समस्या से झूझ रहे हैं तो इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़ें-

1.अदरक

अदरक दिल की बीमारी लिए एक बेहतरीन उपाय है, आयुर्वेद के अनुसार सालों से अदरक का इस्तेमाल हृदय रोगों के उपचार के लिए किया जा रहा है। इतना ही नहीं अदरक कोलेस्ट्रॉल को कम करने, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने, खून के रक्त के थक्कों से बचाव, कैंसर, कब्ज़, तनाव, उल्टी और पेट की तमाम समस्याओं से भी छुटकारा दिलाता है।

जिससे व्यक्ति खुद को हल्का महसूस करता है। अब आपको बताते हैं कि अदरक का इस्तेमाल करना कैसे है, दोस्तों सबसे पहले आपको साफ अदरक का एक टुकड़ा लेना है औऱ इसे दांत के नीचे दबाकर इससे निकलने वाले रस को पीना है। ऐसा करने से आपको कुछ ही दिनों में फर्क नजर आने लगेगा।

2.लहसुन

जिन लोगों को हाई बीपी की समस्या है, कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते हैं, मोटापा अधिक बढ़ गया है, तनाव की परेशानी है, अर्थराइटिस से परेशान हैं, और हमेशा शारीरिक थकान रहती है तो इन लोगों को रोज़ाना 2 लहसुन का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

इसके लिए बड़े वाले लहसुन को पानी में डाल दें और उसे छीलकर एक डब्बे में स्टोर कर लें, और रोज़ाना खाना खाने के दौरान दो लहसुन और एक चम्मच शहद का सेवन करें। ध्यान रहे आपको ज्यादा लहसून नहीं खाना है क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है जिससे शरीर को नुकसान हो सकता है।

3.जूस

रोज़ाना सुबह ब्रेकफास्ट के साथ एक गिलास जूस ज़रूर पीएं। अगर आप गाजर और अनार का जूस पीते हैं तो इससे आपको डबल फायदा मिलेगा। गाजर और अनार का जूस शरीर में खून बढ़ता है, इसके साथ ही ये आपके चेहरे के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है। इससे स्किन एजिंग की समस्या गायब हो जाती है। इतना ही नहीं रोज़ाना जूस पीने से शरीर की ब्लॉक नसें खुलती हैं और पूरा दिन शरीर एनर्जी से भरा हुआ महसूस करता है। ध्यान रहे अगर आपको हाई ब्लड प्रैशर की समस्या है तो आपको गाजर, अंगूर, मौसम्बी और ज्वारों का जूस पीना चाहिए। इसमें अनार के जूस का सेवन करने से बचना चाहिए। इसके अलावा लो ब्लड प्रेशर में ज्यादा मीठे और खट्टे फलों का सेवन न करें।

4.मेथी दाना

अगर आपके बाल झड़ रहे हैं, पेट में हमेशा गैस और कब्ज़ रहता है, पीरियड्स के दैरान पेट में ऐंठन होती है, हाथ पैरों में सूजन और जोड़ों में दर्द की परेशानी रहती है तो इस स्थिति में मेथी दाने का सेवन ज़रूर करें। इसके अलावा मेथी दाना, हाई बीपी, खराब कोलेस्ट्रॉल, कैंसर और एक्सट्रा फैट के इलाज में भी काफी फायदेमंद है। इसके लिए आप एक बड़े चम्मच मेथी दाने को एक तांबे के कटोरे में रातभर के लिए भिगो लें, उसके बाद सुबह इसे छानकर इसका पानी पीएं। इसके अलावा आप मेथी के दानों की चाय बनाकर भी पी सकते हैं। मेथी की चाय बनाकर इसके पानी में थोड़ा शहद मिला लें जिससे ये मीठा लगे, रोज़ाना मेथी की चाय पीने से तमाम तरह की बीमारियों से तो छुटकारा मिलता ही है साथ ही शरीर से खून और हीमोग्लोबिन की कमी भी दूर होती है। लेकिन ध्यान रहे दस्त, उल्टी और डायबिटीज की हार्ड दवाइयों के साथ मेथी दाने का सेवन ना करें इससे आपकी परेशानी और अधिक बढ़ सकती है।

5.कलौंजी

कलौंजी सेहत के लिए एक चमत्कारी औषधि है, कलौंजी के बीच में हज़ारों बीमारियों का इलाज छुपा है, आपको ध्यान देना है तो बस इतना कि कौन सी बीमारी में कलौंजी का किस तरह से इस्तेमाल करना है। अगर आपको थकान, अस्थमा, खांसी, कैंसर, बाल झड़ने, चेहरे पर झुर्रियां, मोटापा, ब्लड प्रेशर, और आंखों की रौशनी से जुड़ी कोई भी परेशानी है तो एक बार कलौंजी का इस्तेमाल करके ज़रूर देखें, कुछ ही दिनों में आपको खुद फर्क नजर आने लगेगा। इन सभी बीमारियों में कलौंजी को एक रामबाण औषधि माना गया है,

इसके लिए कलौंजी के बीजों का सेवन आप सीधे ही कर सकते हैं या फिर आप एक छोटे चम्मच कलौंजी के बीजों को शहद के साथ मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं। इतना ही नहीं कलौंजी को पानी में उबालकर फिर छान लें और इस पानी को पीएं ऐसे भी आप कलौंजी को ले सकते हैं। आयुर्वेद में कहा गया है कि एक चम्मच कलौंजी को दूध में उबालें और जब दूध ठंडा हो जाये तब इसको छानकर पीएं इससे दोगुना फायदा मिलता है। ध्यान रहे आपको केवल 1 या आधा चम्मच ही कलौंजी का सेवन करना है, क्योंकि ज़रूरत से ज्यादा किसी भी चीज़ का इस्तेमाल करने से इसका शरीर पर दुष्प्रभाव दिखने लगता है।

आगे पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here