चने और किशमिश खाएं, Immunity बढ़ाएं, 10 रोगों को दूर भगाएं

चने और किशमिश

शरीर को स्वस्थ और ताकतवर बनाने के लिए भीगे हुए चने और किशमिश थाने चाहिए। इनका सेवन करने से हमारे शरीर को भरपूर मात्रा में एनर्जी मिलती है। जहां किशमिश में कैल्शियम पोटेशियम मैग्नीशियम आयरन और फाइबर मौजूद होते हैं तो वही चने में फाइबर, कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन और कैल्शियम होता है। भीगे हुए चने और किशमिश का सेवन करने से शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाया जा सकता है।

आयुर्वेद में भी सूखी किशमिश के बजाय भीगी किशमिश खाने के कई फायदे बताए गए हैं। रोज़ सुबह खाली पेट भीगे हुए चने और किशमिश खाने से किडनी, कैंसर और पेट संबंधी रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है। आज हम आपको 10 ऐसी बीमारियों के बारे में बताएंगे, जिनसे चने और किशमिश खाने से जल्द ही छुटकारा मिल जाता है।

ब्लड प्रेशर

भीगे हुए चने और किशमिश ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। भीगे हुए किशमिश में पोटैशियम पाया जाता है, जो हाइपरटेंशन से बचाव करता है। जिसके कारण ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है।

खून की कमी

चने और किशमिश में पाए जाने वाले आयरन और विटामिन से शरीर में होने वाली खून की कमी से छुटकारा पाया जा सकता है । रात को मुट्ठी भर किसमिस और चने को भिगो दें और फिर सुबह इन भीगे हुए किशमिश और चनों का सेवन करें। ऐसा करने से शरीर में होने वाली कमी को होने वाली खून की कमी को दूर हो जाएगी।

कब्ज और एसिडिटी

जिन लोगों को कब्ज और एसिडिटी की शिकायत होती है, उन्हें भीगे हुए चने और किशमिश का सेवन करना चाहिए। इसके पानी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स कब्ज और एसिडीटी से निजात दिलाते हैं। इसके लिए मुट्ठी भर किशमिश और चना को रात भर पानी में भिगो दें और फिर अगली सुबह उठकर इसके पानी का पानी को पिएं। इसके बाद भीगे हुए चने और किशमिश को चबाकर खाएं ।ऐसा करने से पेट में होने वाली गैस, एसिडिटी व कब्ज से जल्द ही छुटकारा मिल जाएगा।

कोलेस्ट्रॉल

रोजाना भीगे हुए किशमिश खाने से हमारा दिल स्वस्थ रहता है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रहता है । जिससे दिल की बीमारी होने का खतरा नहीं रहता। इसीलिए रोजाना सुबह भीगे हुए चने और किशमिश का खाने चाहिए।

इम्यूनिटी बूस्टर

भीगे हुए चने में मिनिरल्स, विटामिन और फास्फोरस पाया जाता है, तो किशमिस के पानी में भरपूर मात्रा में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। जो हमारे शरीर की नीति को बढ़ाने में इम्यूनिटी को बढ़ाने में सहायक होते हैं । इसके अलावा रोजाना भीगे हुए चने और किशमिश का पानी पीने से शारीरिक थकान भी दूर होती है।

मोटापा

किसमिस में कैलोरी और शुगर बहुत ज्यादा मात्रा में होती है। लेकिन यह हमारे शरीर को नुकसान नहीं, बल्कि फायदा पहुंचाती है । आपको जानकर है ना हैरानी होगी कि किशमिश और चना वेट लॉस करने में सहायक होता है। रेगुलर एक्सरसाइज के बाद यदि आप भीगी हुई किशमिश और चना खाते हैं, तो आपको इससे एनर्जी तो मिलेगी ही साथ ही ये जल्दी वेट लॉस करने में मदद करते हैं ।

बॉडी डिटॉक्स

हमारे शरीर में टॉक्सिन बनते रहते हैं जो हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियों को बढ़ाने में सहायक होते हैं, इसीलिए इन्हें शरीर से बाहर निकालना बहुत ही आवश्यक हो जाता है। इसके लिए रोज सुबह खाली पेट भीगे हुए किशमिश और चनों के पानी का सेवन करना चाहिए। इसमे मौजूद एन्टी ओक्सीडेंट शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालते हैं।

लिवर

भीगे हुए किशमिश और चने का पानी पीने के बाद इनका सेवन करने से लीवर मजबूत रहता है और इससे खाना भी ठीक से पचता है । इसके अलावा भोजन से निकलने वाले सभी पोषक तत्व भी हमारे शरीर को लगते हैं।

बुखार

भीगे हुए चने में एंटीबायोटिक तत्व पाए जाते हैं। जो बुखार को जल्दी ठीक करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा किशमिश के पानी में एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो एक तरह से एंटीबायोटिक का काम करता है। इसे पीने से बुखार से तुरंत छुटकारा मिलता है।

स्वस्थ्य त्वचा

किसमिस और चने का पानी पीने से स्किन हेल्दी रहती है, क्योंकि इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट चेहरे की स्किन पर गंदगी जमा नहीं होने देते। जिससे स्किन चमकदार बनी रहती है। रोज चने और किशमिश का पानी पीने से चेहरे पर झुर्रियां भी नहीं होती और चेहरे पर होने वाले कील मुहांसों से भी छुटकारा मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here