गलत जूते पहनने से हो सकतीं हैं 6 गम्भीर बीमारियां

diseases due to wrong shoes and sandals

अक्सर लोग अपनी पर्सनेलिटी और लुक्स को औरों से बेहतर दिखाने की रेस में लगे रहते हैं। जिसके चलते वे महंगे से मंहगे उत्पादों, कपड़ों और हेयर स्टाईल के साथ नए फैशनेबल जूते और सैंडल्स भी पहनने से नहीं चूकते। लेकिन पर्सनेलिटी को इम्प्रूव करने में लोग अपने पैरों के आराम के बारे में भूल जाते हैं। फैशन के चक्कर में लोग फिटिंग वाले जूते, हाई हील, नैरो जूते या टाइट जूते पहनते हैं। जो दिखने में तो स्टाइलिश लगते हैं, लेकिन कई बार इनसे न सिर्फ चलने में भी परेशानी होती है, बल्कि पैरों में भी दर्द होने लगता है।

गलत जूते-सैंडल पहनने के परिणाम

जूते या सैंडल खरीदते समय की गई छोटी-छोटी गलतियां बाद में बहुत नुकसान देती हैं। इसीलिए हमेशा फुटवियर खरीदते समय हमें अपने पैरों की बनावट को ध्यान में रखना चाहिए। किसी गलत साइज के फुटवियर का इस्तेमाल हमारी पैरों और घुटनों की सेहत पर बुरा असर डालता है। जो बाद में एक गंभीर बीमारी भी बन सकती है। जैसे लगातार हील वाली सैंडल्स या जूते पहनने से कमर और पीठ दर्द होने लगता है।

बीमारियाँ 

आज हम आपको ऐसी ही 6 बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो गलत जूतों के इस्तेमाल के कारण होती हैं।

गोखरू (Bunions)

गोखरू

गांठ की तरह दिखाई देने वाली इस बीमारी को गोखरू कहा जाता है, जो पैरों के तलवे या उंगलियों में होती है। ये बीमारी नैरो जूते या फुटवियर पहनने से होती है। दरअसल नैरो फुटवियर आगे से बहुत कसे होते हैं। इन्हें पहनने से उंगलियों और तलवों में ज्यादा दबाव पड़ता है, जिसके कारण गोखरू की समस्‍या हो जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये बीमारी सबसे ज्यादा पैरों की बड़ी उंगली में होती है।

एथलीट फुट (Athlete’s Foot)

Athele foot

एथलीट फुट की ये बीमारी ज्यादातर एथलीटस को होती है, इसीलिए इसका नाम एथलीट फुट रखा गया है। लेकिन अब ये बीमारी न सिर्फ एथलीट बल्कि सामान्‍य लोगों को भी अपनी चपेट में ले रही है। ये उंगलियों के बीच में होती है,जिसके कारण खुजली और जलन की समस्या होने लगती है। ये बीमारी नैरो या टाइट शूज पहनने से होती है। जिससे उंगलियों के बीच पसीना निकलने लगता है और infection हो जाता है।

कॉर्न्‍स (Corns)

टाइट या गलत साइज के जूते पहनने से कॉर्न्‍स की बीमारी होती है । ये तलवों की मोटी त्‍वचा में धब्‍बे की तरह उभरने लगती है। कॉर्न्‍स की वजह से अक्सर पैरों में तेज दर्द का होने लगता है। जिसके कारण चलने में भी परेशनी होने लगती है।

एड़ी में गांठ (Heel Spurs)

गाँठ

बहुत ज्यादा टाइट या नैरो जूते पहनने से ये बीमारी होती है। इस बिमारी में एड़ी के ऊपर मांसपेशियों की एक छोटी सी गांठ बनने लगती है। जिसमें बहुत दर्द होता है। जिसकी वजह से कोई भी फुटवियर पहनने में तकलीफ होती है।

डायबिटिक फुट (Diabetic Foot)

डायबिटिक फूट

डायबिटीज की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को अक्‍सर पैरों में Nerve damage की परेशानी रहती है। जिससे उनके पैरों में सनसनी नहीं हो पाती, जिसके कारण उन्हें पैरों में होने वाली खुजली और जलन का भी पता नहीं चलता पाता । फिर टाइट जूते या सैंडल्स पहनने के कारण ये बीमारी फफोले या घावों का रुप लेने लगती है।

हैमर टो (Hammer Toes)

hammer toe

अपने अक्सर देखा होगा कि गलत साइज या नैरो जूते पहनने से पैरों की उंगलियां मुड़ने लगती हैं। इससे सबसे ज्यादा असर अंगूठे के बगल वाली उंगली पर पड़ता है। जिसकी वजह से उसमें तेज़ दर्द होने लगता है। हैमर टो के कारण बीच की उंगली बहुत कठोर हो जाती है और उनके जोड़ों पर गुठलियां बन जाती है।

अगर आप इन सब बीमारियों से बचना चाहते हो, तो कोई भी फुटवियर खरीदते समय फ़ैशन के साथ-साथ अपने पैरों के कंफर्ट का भी ध्यान ज़रूर रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here