2 दिन में सिर से लेकर पैर तक सभी बंद नसें खोल देगा ये नुस्खा

हल्दी और काली मिर्च

हमारे घर में बूढ़े-बुजुर्ग यानी दादी-नानी या हमारे माता-पिता को कई तरह के गंभीर रोग जैसे हाई बीपी, कैंसर, डायबिटीज जोड़ों में दर्द, पेट की समस्या, इम्यून सिस्टम का कमजोर होना, आंखों की रोशनी कम होना से जुड़ी कई समस्या या मौसम बदलने के साथ ही सर्दी जुकाम खांसी होने लगता है। इन सब का इलाज हम केवल दो चीजों से कर सकते हैं। आपकी और हमारी रसोई में मौजूद कई मसाले औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। जो न केवल हमारे खाने का स्वाद बढ़ाते हैं बल्कि इनका सही तरीके और सही मात्रा में सेवन करने से यह हमें कई तरह के स्वास्थ्य संबंधी फायदे भी पहुंचाते हैं। जो हमें कई तरह की गंभीर बीमारियों से सुरक्षित रखते हैं।

आज हम आपको इन्हीं मसालों में से दो मसाले – हल्दी और काली मिर्च के एक साथ सेवन करने के बारे में बताएंगे। जिससे आप कई जानलेवा बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं।

हल्दी और काली मिर्च से होने वाले फायदे

जहां हल्दी में कई एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। वही काली मिर्च में पेट की समस्या, कैंसर, वजन कम करने, स्किन को हेल्दी रखने के साथ ही हाई बीपी और दिल की बीमारी को ठीक करने के कई गुण पाए जाते हैं। सोचिये, अगर इन दोनों का मिश्रण कर सेवन किया जाए तो यह हमें कितनी ही बीमारियों से छुटकारा दिला सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, काली मिर्च और हल्दी पाउडर को एक साथ मिलाने से होने वाले फायदों के बारे में –

कैंसर

आपके घर में किसी को कैंसर से जुड़ी कोई भी समस्या है तो उसे तुरंत छुटकारा पाने के लिए आपको हल्दी और काली मिर्च के मिश्रण का सेवन जरूर करना चाहिए। इन दोनों के मिश्रण से बने काढ़े से बॉडी में मौजूद कैंसर सेल्स को कंट्रोल किया जा सकता है। इतना ही नहीं नियमित रूप से इसका सेवन करने से यह शरीर में बनने वाले कैंसर सेल्स को जड़ से खत्म करने का काम भी करता है। इस मिश्रण से हम ल्यूकेमिया, गैस्ट्रिक, कोलोन और ब्रेस्ट कैंसर से बच सकते हैं। इसके लिए आपको रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुने दूध में चुटकी भर हल्दी डालना है।

फिर इसमें दो से तीन काली मिर्च का पाउडर बनाकर डाल दें और इन सभी को अच्छे से उबाल लें। फिर ठंडा होने पर दूध का सेवन करें । ध्यान रहे दूध में चीनी का प्रयोग नहीं करना है। यह एक काढ़ा है और इसका प्रयोग बिना चीनी के करना चाहिए। ऐसा नियमित रूप से करने से आपके शरीर में बढ़ने वाले कैंसर के सेल्स जड़ से खत्म हो जाएंगे। आपको कैंसर से जुड़ी समस्या से भी छुटकारा मिल जाएगा । इसके अलावा आपको रोज सुबह उठकर अनुलोम विलोम और कपालभाति प्राणायाम भी करना है।

इम्यून सिस्टम और पेट की समस्या

जिन लोगों का मौसम बदलने के साथ ही सर्दी जुखाम या खांसी जल्दी हो जाती है । इसके साथ ही पेट संबंधी बीमारी जैसे गैस, एसिडिटी, कब्ज की समस्या रहती है। उन लोगों को अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत करने की जरूरत होती है। जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है । वह सभी इन बीमारियों की चपेट में जल्दी आते हैं , इसीलिए में सिस्टम को मजबूत करना बहुत ही ज्यादा जरूरी हो जाता है। इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग करने के लिए हल्दी और काली मिर्च का सेवन करना चाहिए। रात को एक गिलास पानी को तांबे के बर्तन में रख दें और सुबह उठकर इसे हल्का गुनगुना कर लें।

ध्यान रहे इसे उबालना नहीं है नहीं तो तांबे के तत्व नष्ट हो सकते हैं, इसीलिए से हल्का गुनगुना करें ।फिर पानी में दो से तीन काली मिर्च को कूटकर डाल दें और आधा छुटकी हल्दी को भी इसमें मिला दें। इसके साथ ही इसमें दो से तीन नीम के पत्तों का रस पानी में मिला दें और फिर इसका सेवन करें । ऐसा करने से यह आपके में सिस्टम को मजबूत बनाता है। जिस कारण आप सर्दी जुखाम कफ या बुखार जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है। इसके साथ ही पेट में होने वाली गड़बड़ी से भी आपको तुरंत राहत मिलती है। ध्यान रहे इस काढ़े का सेवन आपको हफ्ते में कम से कम 4 से 5 बार करना है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से आपका इम्यून सिस्टम हमेशा के लिए स्ट्रांग हो जाएगा।

हाई बीपी और हार्ट की समस्या

जिन लोगों को हाई बीपी और हार्ट से जुड़ी परेशानी होती है। उन्हें अष्टांग हृदय में बताए गए इस नुस्खे का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। इसको बनाने के लिए आपको एक लौकी का जूस निकालना है। उसमें चुटकी भर हल्दी डालें। फिर तीन से चार काली मिर्च को कूटकर पाउडर बना लें। इसको भी आप लौकी के जूस में डाल दें। इसके अलावा आप इसका स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें दो से तीन चम्मच पौदीना, अदरक और धनिया के पत्तों का रस भी मिला सकते हैं। इस तरह आपका काढ़ा तैयार हो जाएगा । इसका आपको हफ्ते में एक दिन छोड़कर सेवन करना है। ध्यान रहे इस काढ़े का आपको रोजाना सेवन नहीं करना है, बल्कि हफ्ते में तीन से चार दिन है यानी कि एक या 2 दिन के अंतराल में सेवन करना है।

ऐसा करने से आपके शरीर में ब्लड ब्लॉकेज की समस्या दूर हो जाएगी। आपका हाई बीपी कंट्रोल हो जाएगा और इसके साथ ही दिल से जुड़ी समस्याएं भी खत्म हो जाएंगी। इस काढ़े से शरीर में खून की सफाई होती है। इसके अलावा इस काढ़े से हमारे शरीर की सिर से लेकर पैरों तक की सभी नसे खुल जाती हैं और इनमें ब्लड सरकुलेशन नियमित रूप से और सही तरीके से होता है । जिस कारण हमें हाई बीपी या दिल से जुड़ी कोई भी समस्या नहीं रहती । इतना ही नहीं इसका सेवन करने से आप हार्ट अटैक, हार्ट ब्लॉकेज या हार्ट में पेन जैसी समस्याओं से भी छुटकारा पा सकते हैं।

हल्दी और काली मिर्च से इन बड़ी बीमारियों के साथ-साथ कई अन्य छोटी बीमारियों में भी सहायता मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here