आचार्य प्रमोद कृष्णम बने मध्यप्रदेश में काँग्रेस के चाणक्य

आचार्य प्रमोद कृष्णम बने मध्यप्रदेश में काँग्रेस के चाणक्य

मध्य प्रदेश में राजनैतिक जंग तेज हो चुकी है , 28 नवम्बर को चुनाव का दिन है और पिछले 15 सालों में कांग्रेस को पहली बार यहाँ सरकार बनाने कि उम्मीद नजर आ रही है, इसलिए कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत भी यहाँ झोंक दी है ,खुद राहुल गांधी यहाँ पर रेलियाँ करने में लगे हुए है , कांग्रेस कि अगुवाई इस बार प्रदेश में कमलनाथ कर रहे हैं .

चुनावी विश्लेषकों कि माने तो अबकी बार मध्यप्रदेश में कांटे का मुकबला है , पिछले 15 सालों से शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री है तो लोगों में बदलाव कि इच्छा होना स्वाभाविक है ही , इसके अलावा व्यापम घोटाला , किसान आन्दोलन जैसे मुद्दे भी है जिससे कांग्रेस को उम्मीद नजर आ रही है , लेकिन इन सब बातों के बावजूद कई लोगों का मानाना है कि शिवराज सिंह चौहान कांटे कि टक्कर में बाजी मार ले जायेंगे . चौहान अभी भी मध्यप्रदेश में सबसे लोकप्रिय नेता है और माना जा रहा है की उनकी लोकप्रियता कि दम पर भाजपा फिर से सरकार बना लेगी . और इसी कि काट के लिए कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में अपना तुरुप का इक्का चल दिया है .

पूरी कवरेज यहाँ youtube पर देखें

भाजपा का एक सबसे बड़ा मुद्दा हिन्दुत्व रहता ही है ,वो चाहे लोकसभा के चुनाव रहे हो या उत्तर प्रदेश के चुनाव . इसी वजह से भाजपा हर समय कांग्रेस को हिन्दू विरोधी घोषित करने में लगी रहती है , जिसमे वो काफी हद तक सफल भी रही है और इसका तोड़ कांग्रेस अभी तक नही निकाल भी पायी है लेकिन मध्यप्रदेश में कांग्रेस को एक ऐसे हिन्दू संत का सहारा मिला है जिसने भाजपा को हिन्दुत्व के मुद्दे पर ही चारों खाने चित कर दिया है ,
और वो है श्रीं कल्कि पीठाधिस्वर आचार्य प्रमोद कृष्णं .

कुछ दिन पहले जब इनका नाम कांग्रेस के स्टार प्रचारक कि लिस्ट में आया था सबने आश्चर्य व्यक्त किया था कि उत्तर प्रदेश के ये आचार्य मध्यप्रदेश में क्या कर पायेंगे . लेकिन जैसे ही ये मध्यप्रदेश पहुँचे इन्होने बता दिया कि इनका नाम स्टार प्रचारक कि लिस्ट में क्यों था , आचार्य ने मध्यप्रदेश पहुँचते ही राजनीति कि चौसर पर ऐसे पांसे चले कि शिवराज सिंह चौहान कि रातों कि नींद उड़ गयी है ,

आचार्य प्रमोद कृष्णं ने मध्यप्रदेश के सभी संतों को कांग्रेस के पाले में ला खड़ा किया है जो आजतक कभी नही हुआ था , उन्होंने जबलपुर में “ नर्मदा संसद “ बुलाई जिसमे 7000 से ज्यादा संत पहुंचे और शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ बिगुल फूकते हुए कांग्रेस को समर्थन देने का एलान कर दिया , इस नर्मदा संसद में कंप्यूटर बाबा भी पहुंचे , आपको बता दे कि ये वही बाबा है जिसे शिवराज सरकार में राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था .

इतनी बड़ी संख्यां में संत समाज के मिले समर्थन से कांग्रेस पार्टी का उत्साह अपने चरम पर है , और इसको लेकर कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला , प्रियंका चतुर्वेदी जैसे बड़े नेताओं ने ट्वीट करते हुए भाजपा सरकार पर हमला बोला है .
आचार्य प्रमोद कृष्णं द्वारा हिन्दुत्व के मुद्दे पर रचे इस चक्रव्यहू से भाजपा निकल पाती है या नही , ये तो आने वाला समय ही बतायेगा , लेकिन इन्होने 15 सालों से मध्यप्रदेश में सत्ता से दूर खड़ कांग्रेस के लिए एक उम्मीद कि किरण तो जगा ही दी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here